VERY ROMANTIC SHAYARI REHTE HO AAJ BHI SANSON

Rehte Ho Aaj Bhi Sanson Main Tum,
Yaadon Mai Tum Kitabo Main Tum,
Jab Bhi Kalam Uthata Hu Likhne Ke Liye,
Banke Gazal Aa Jate Ho Lafzo Main Tum.

रहते हो आज भी सांसों मैं तुम,
यादों मैं तुम किताबो मैं तुम,
जब भी कलम उठता हु लिखने के लिए,
बनके ग़ज़ल आ जाते हो लफ्ज़ो मैं तुम.

Comments